कंप्यूटर क्या है इसकी टेक्नोलॉजी को समझे सरल भाषा में।

कंप्यूटर क्या है इसकी टेक्नोलॉजी को सरल भाषा में कैसे समझे? आज हम इस विषय पर बात करेंगे पिछले कुछ समय में technology का बहुत तेजी से विकास हुआ है। जिसने मानव जीवन को काफी आसान बना दिया है, जहाँ काम करने में कई घंटे लगते थे, अब वही काम मिनटों में हो जाता है। इसी बदलती हुई technology ने हमे एक उपकरण दिया है, जिसका नाम है computer, आज हम कंप्यूटर क्या है और इसकी विशेषताओं को समझते है जिसने मानव के जीवन में एक क्रांति ला दी है।  

Computer क्या है

आज हम computer की मदद से कठीन कार्यो को भी बड़ी आसानी से कर लेते है। Computer का अविष्कारक “Charles Babbage” को माना जाता है। उन्होंने सबसे पहले सन 1833 में एक analytical engine का आविष्कार किया था, जिसे आधार बनाकर आज के आधुनिक computer का निर्माण किया गया है। इनके इसी योगदान के लिये इन्हे father of computer कहाँ जाता है।

 {tocify} $title={विषय सूची}

आज हम अपने सबसे बड़े मददगार कंप्यूटर क्या है इसके बारे में ही जानने का प्रयास करेंगे। कंप्यूटर क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएं क्या है? Computer की सीमाएं क्या है?, Analog और डिजिटल कंप्यूटर क्या है? इन सब विषयो पर विस्तार से चर्चा करेंगे। 

कंप्यूटर क्या है? What is Computer in Hindi? 

सबसे पहले कंप्यूटर क्या है इसे समझते हैं, computer शब्द का निर्माण अंग्रेजी के शब्द "compute" से हुआ है, जिसका अर्थ होता है "गणना", करना, इसीलिए इसे हम हिंदी में गणक या संगणक या अभिकलक यंत्र भी कहते है। Computer का अविष्‍कार calculations को करने के लिये हुआ था, जिसे हम साधारण भाषा मेंं कहे तो computer एक calculations को करने वाली मशीन थी, जैसे की आपका कैलकुलेटर होता है।

कंप्यूटर क्या है, यह एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, जो कुछ तय दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी कार्यो को complete करता है, या हम कह सकते है, की यह एक ऐसा electronic device है, जो input उपकरणों की साहयता से प्राप्त आँकडों को प्रोसेस करता है, और फिर output उपकरणों की साहयता से उन्हें सूचना के रूप में प्रस्तुत करता है।

इसके दिशा-निर्देशों में कई प्रकार के डेटा शामिल होता है, जैसे - संख्या, वर्णमाला, आंकड़े इत्यादि। इन सभी डेटा के आधार पर ही computer अपने परिणाम को दर्शाता है। यदि computer को गलत आंकड़े दिए जाते है, तो computer उन आकड़ो के अनुसार गलत परिणाम ही देगा। इसका यह मतलब है, कि computer GIGO – garbage in garbage out के नियम पर ही कार्य को करता है। उम्मीद है आप कंप्यूटर क्या है यह समझ गये होंगे। 

कंप्यूटर की फुल फॉर्म क्या है? Computer Full Form in Hindi.

कंप्यूटर क्या है इसे जानने के बाद अब कंप्यूटर की फुल फॉर्म क्या है? इसे जानते है क्योकि अभी तक computer को किसी भी एक फिक्स परिभाषा में नही बाँधा गया है। अलग-अलग संस्थाओं और लोगो ने अपने अनुभवो के आधार पर इसकी अलग-अलग व्याख्याये की है। लेकिन अभी तक इसकी कोई भी standard full form उपलब्ध नही है। फिर भी आपके लिए इसकी एक काल्पनिक फुल फॉर्म को नीचे बताया गया है, जो कई मायनो में काफी लोकप्रिय और अर्थपूर्ण भी है।

C – Commonly

O – Operating

M – Machine

P – Particularly

U – Used in

T – Technology

E – Education and

R – Research

इसके अनुसार कंप्यूटर की फुल फॉर्म है - Commonly Operating Machine Particularly Used in Technology Education and Research.

कंप्यूटर का इतिहास क्या है? What is the history of computer?   

कंप्यूटर क्या है और इसका इतिहास क्या है? क्योकि इस बात को पूरी तरह से प्रमाणित नहीं किया जा सकता है, computer का development कब शुरू किया गया था। लेकिन हम computer के development को उसकी तकनीकी के हिसाब से वर्गीकृत अवश्य कर सकते है। इसे मुख्यता 5 भागो में बाटा गया है, जिसे हम generations of computers कहते हैं, जो इस प्रकार है -

  • First Generation Computer 1940 – 1956

पहली पीढ़ी के इस computer में, वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) तकनीकी का इस्तेमाल किया गया था, जो केवल गणनाओं को करने के लिए प्रयोग होती थी। ये आकर में काफी बड़े होते थे, जिसे चलाने के लिये काफी ऊर्जा की आवश्यकता होती थी। इनमे machine language का प्रयोग किया जाता था। उदहारण के तोर पर UNIVAC and ENIAC

  • Second Generation Computer 1956 – 1963

दूसरी पीढ़ी के computers में ट्रांजिस्टर (Transistor) तकनीक का उपयोग किया जाने लगा, जिसने computer के आकार को पहले के मुकाबले थोड़ा छोटा कर दिया, जिससे उसकी परफॉरमेंस भी काफी तेज हो गयी। इनमे high level programming language जैसे COBOL और FORTRAN का इस्तेमाल किया जाता था।

  • Third Generation Computer 1964 – 1971

तीसरी पीढ़ी के computer में integrated circuit (IC) तकनीक का उपयोग किया गया, जिसमे transistors के आकर को छोटा करके उसे silicon chip के अन्दर डाला जाता था जिसे semi conductor कहते है, जिसने इसे पिछली पीढ़ियों के computers की तुलना में अधिक तेज और विश्वसनीय बना दिया। पहली बार इस पीढ़ी के computer को ज्यादा यूजर friendly बनाने के लिए monitors, keyboards और operating system का प्रयोग किया गया।


Computer क्या है

  • Fourth Generation Computer 1972 – 2010

चौथी पीढ़ी के computer में, माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessor) तकनीकी का इस्तेमाल किया जाने लगा, जिससे हजारों integrated circuits को एक ही silicon chip में embedded किया गया, जिसने इन computers को अपनी सभी पिछली पीढ़ियों की तुलना में अधिक तेज, आकार में छोटा और विश्वसनीय बना दिया। इसे आसानी से उठाकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर कहीं भी रख सकते हैं।

  • Fifth Generation Computer 2010 से अब तक

पांचवीं पीढ़ी के computers में artificial intelligence का उपयोग किया गया है, जिसने इस computer को प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सर्वोपरि बना दिया है, अब नयी-नयी तकनीकी जैसे speech recognition, parallel processing, quantum calculation जैसे कई नई advanced technology का प्रयोग किया जाने लगा हैं। इन computer में artificial intelligence होने के कारण अब इनमे स्वयं decision लेने की क्षमता आ चुकी है, जिससे अब धीरे-धीरे इसके सारे काम automated होते जायेंगे।

कंप्यूटर काम कैसे करता है? How does computer work?

कंप्यूटर क्या है और यह कैसे काम करता है वैसे कंप्यूटर के मुख्य रूप से तीन काम होते है। पहला input लेना दूसरा process करना और तीसरा output  दिखाना।

Input: इसमें computer को इंस्ट्रक्शन देनी पड़ती है, जहाँ raw information को इनपुट डिवाईस का प्रयोग करके computer में डाला जाता है। यहाँ इनपुट physically या internal software program के द्वारा भी दे सकते है, इसमें mouse और keyboard computer के बेसिक input components होते है।

Process: जब हम computer को कोई input देते है, जैसे mouse की साहयता से किसी video, picture या फाइल पर डबल क्लिक करते है, तो computer उस इनपुट को analyze करके उसे अपने स्टोरेज में खोजता है, और किसी प्रोग्राम के द्वारा उसे decode करता है, इस पुरे क्रियाकलाप को process कहते है।

Output: जब computer दिये गये इनपुट को इंटरनली प्रॉसेस कर लेता है, तो उसके बाद डिस्प्ले की साहयता से हमे जो रिजल्ट दिखता है, उसे output कहते है।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है  

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है? How many types of computers are there?

कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है इसे हम ऐसे समझते है, काम करने के आधार पर computer को तीन भागो में बांटा गया है।

  • Analog Computer 

Analog computer, इस सिस्टम में जानकारी को दिखाने के लिए analog signal का प्रयोग किया जाता हैं। इसमें जो जानकारी दिखाई जाती है वो continuous form में होती है, जिसे curves के रूप में दिखाया जाता हैं। इसका इस्तेमाल लगातार हो रही किसी physical quantity को मापने के लिये किया जाता है, जैसे तापमान, बिजली का प्रवाह, ब्लड प्रेशर और दिल की धड़कन इत्यादि।

  • Digital Computer

Digital computer सिस्टम में अलग-अलग जानकारी को दिखाने के लिए binary digits का प्रयोग किया जाता हैं, इसीलिये इसे digital computer कहते हैं। इसमें प्रदर्शित जानकारी discrete form में होती है, जो हमे text, picture और graphics के रूप दिखाई देती है।

  • Hybrid Computer 

Hybrid computer सिस्टम में जानकारी को दिखाने के लिए analog signal के साथ binary digits का भी प्रयोग किया जाता है, इसलिये इसे hybrid computer कहाँ जाता हैं। इसमें जानकारी operating mode के अनुसार दिखाई देती है, जो continuous form के साथ discrete form में भी होती है। क्योकि यह digital processing और analog processing को एक साथ करता है।

  • Mainframe Computer

Mainframe computer आकार में काफी बड़े होते है। इसलिये ये ज्यादा स्थान घेरते हैं। इन computer में कई सारे टर्मिनल्स को जोड़ा जाता हैं। ताकि हजारो यूजर्स को एक single computer हेंडल कर सके, यह एक साथ कई प्रोग्राम्स को रन कर सकता है। यह काफी महंगे होते हैं, इसी कारण केवल बड़ी-बड़ी कंपनियो मे ही mainframe computer का उपयोग किया जाता है। 

  • Mini Computer

Mini computer साईज और पावर के मामले में medium level पर आते हैं। अगर सीधे शब्दों में कहाँ जाये तो यह एक server computer होते है,  जिसमें 4 से लेकर 200 यूजर तक एक साथ काम कर सकते हैं। Mini computer आपको किसी बैंक या ऑफिस जहां बहुत सारे लोग एक साथ काम करते हो, वहाँ देखने को मिल जायेगे। इन computer को directly use नहीं किया जाता है, बल्कि इसमें यूजर बनाकर micro computer के द्वारा इसके प्रोग्राम को Use किया जाता है।

  • Micro or Personal Computer

Micro computer को personal computer भी कहाँ जाता है, यह आकर में बहुत छोटे होते है। तकनीकी विकास के कारण इनका इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। इन computer की गति काफी बढ़ गयी है, और आकार भी छोटा हो गया है। इन computer का आकार छोटा होने के कारण इनका इस्तेमाल एक टेबल पर रख कर भी किया जा सकता है।

  • Super Computer

Super computer आकर में काफी बड़े होते है। ये ज्यादातर dual processing Unit के साथ आते है, इनका प्रयोग केवल ख़ास कामों के लिए किया जाता हैं। जैसे मौसम की भविष्यवाणी करना, किसी बहुत ही जटिल गणना को करना। इसके अलावा इनका इस्तेमाल एनीमेशन, ग्राफ़िक डिजाइनिंग, nuclear energy research, और fluid dynamics के कैलकुलेशन को करने में किया जाता है।

कंप्यूटर की विशेषताएं क्या है? Features of Computer in hindi. 

कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर की विशेषताएं जो इस प्रकार है:    

Speed 

एक कंप्यूटर गणितीय गणना करते समय मनुष्यों की तुलना में बहुत अधिक गति और सटीकता के साथ काम करता है। कंप्यूटर प्रति सेकंड लाखों (1,000,000) निर्देशों को संसाधित कर सकते हैं। कंप्यूटर द्वारा अपने संचालन के लिए लिया गया समय माइक्रोसेकंड और नैनोसेकंड है।

Accuracy

कंप्यूटर 100% सटीकता के साथ गणना करते हैं। डेटा असंगति या अशुद्धि के कारण त्रुटियाँ हो सकती हैं।

Diligence

एक कंप्यूटर एक ही स्थिरता और सटीकता के साथ लाखों कार्य या गणना कर सकता है। यह किसी भी थकान या एकाग्रता की कमी महसूस नहीं करता है। इसकी याददाश्त भी इसे इंसानों से बेहतर बनाती है।

Versatility

बहुमुखी प्रतिभा एक कंप्यूटर की क्षमता को समान सटीकता और दक्षता के साथ विभिन्न प्रकार के कार्यों को करने के लिए संदर्भित करती है।

Reliability

एक कंप्यूटर विश्वसनीय होता है क्योंकि यह डेटा के समान सेट के लिए लगातार परिणाम देता है यानी, यदि हम एक ही इनपुट का सेट कितनी बार देते हैं, तो हमें वही परिणाम मिलेगा।

Automation

कंप्यूटर सभी कार्यों को स्वचालित रूप से करता है अर्थात यह मानवीय हस्तक्षेप के बिना कार्य करता है।

Memory

कंप्यूटर में बिल्ट-इन मेमोरी होती है जिसे प्राइमरी मेमोरी कहा जाता है जहां यह डेटा स्टोर करता है। सेकेंडरी स्टोरेज रिमूवेबल डिवाइस जैसे सीडी, पेन ड्राइव आदि हैं, जिनका उपयोग डेटा को स्टोर करने के लिए भी किया जाता है।

कंप्यूटर के मुख्य पार्ट्स कौन-कौन से है? What are the main parts of computer?

कंप्यूटर क्या है और इसके मुख्य पार्ट्स कौन कौन से है:- 

Processor: Processor computer का एक मुख्य पार्ट होता है, जिसे हम computer का दिमाग कहते है। प्रोसेसर के पास सभी कॉम्पोनेन्ट की पूरी जानकारी उपलब्ध होती है, प्रोसेसर ही computer के सभी पार्ट्स को control करता है। Processor ही इनपुट किये गए डाटा को प्रोसेस करता है, इसलिए इसे प्रोसेसर कहाँ जाता है।

RAM: Ram को random access memory कहते है, जब कोई डाटा processor के पास प्रोसेस होने के लिए भेजा जाता है, तो RAM उसे कुछ समय के लिए अपने पास स्टोर करती है, ताकि प्रोसेसर उस समय में उस डाटा को प्रोसेस कर सके। RAM जितनी अधिक होगी होगी डाटा उतनी जल्दी ही प्रोसेस होगा।

Motherboard: इसे PCB या ग्रीन बोर्ड भी कहाँ जाता है, इसमें बहुत सारे कॉम्पोनेन्ट को इनस्टॉल किया जाता है, जैसे - processor, RAM, graphic card, sound card, HDD & SSD। Motherboard की सहयता से हम input devices जैसे - mouse, keyboard और output device जैसे - monitor, speaker आदि को लगा सकते है। सभी computer parts मदरबोर्ड से ही जुड़े हुऐ होते है।

CPU: CPU (Central Processing Unit) यह computer का सबसे महत्वपूर्ण भाग है, जो computer में डाटा को प्रोसेस करता है, और उसे आउटपुट के रूप में प्रदान करता है।

Storage (HDD or SSD): बिना यूजर इंटरफ़ेस के computer को नहीं चलाया जा सकता है, इसलिये computer में एक operating system का होना बहुत जरुरी है। Computer में ऑपरेटिंग सिस्टम को install करने के लिए हमे स्टोरेज की आवश्यकता होती है। इसलिये स्टोरेज के रूप में हम HDD  या SSD को प्रयोग करते है।

Mouse और Keyboard: Keyboard और mouse से ही हम computer को इंस्ट्रक्शन देते है। बिना keyboard और mouse के आप computer पर कुछ नहीं कर सकते है। 

Monitor: Monitor computer का एक output device है, जिसे visual display unit भी कहा जाता है। यह एक टीवी की तरह दिखाई देता है। Computer CPU के सभी processed data को मॉनिटर स्क्रीन पर ही दिखता है।

बेसिक कंप्यूटर क्या है?

बेसिक कंप्यूटर क्या है, बेसिक कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो सूचना, या डेटा में हेरफेर करता है। इसमें डेटा को स्टोर करने, पुनर्प्राप्त करने और संसाधित करने की क्षमता होती है। बेसिक कंप्यूटर के साथ आप दस्तावेज़ लिखने, ईमेल भेजने, गेम खेलने और वेब ब्राउज़ करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं।

डिजिटल कंप्यूटर क्या है?

डिजिटल कंप्यूटर क्या है, डिजिटल कंप्यूटर एक मशीन या एक उपकरण है जो किसी भी तरह की जानकारी को प्रोसेस करने में मदद करता है। ये वे उपकरण हैं जिनके माध्यम से हम कुछ इनपुट प्रदान करते हैं और कुछ सेकंड के भीतर आउटपुट प्राप्त करते हैं।

डिजिटल कंप्यूटर में डिवाइस में आंतरिक रूप से किए जाने वाले ऑपरेशन बाइनरी नंबर सिस्टम का उपयोग करते हैं क्योंकि कंप्यूटर केवल अंकों यानी 0 और 1 को समझता है।

अंग्रेजी में लिखी गई सभी सामग्री को बाइनरी भाषा में बदल दिया जाएगा और इस प्रकार कंप्यूटर और मनुष्य एक दूसरे के साथ संवाद करते हैं।

डिजिटल उपकरणों के कुछ बुनियादी उदाहरण पर्सनल कंप्यूटर, डेस्कटॉप, लैपटॉप, स्मार्टफोन और मोबाइल हैं।

सुपर कंप्यूटर क्या है?

सुपर कंप्यूटर क्या है, सुपर कंप्यूटर एक सामान्य प्रयोजन के कंप्यूटर की तुलना में उच्च स्तर के प्रदर्शन वाला कंप्यूटर होता है। सुपर कंप्यूटर का प्रदर्शन मिलियन निर्देश प्रति सेकंड (MIPS) के बजाय फ्लोटिंग-पॉइंट ऑपरेशंस प्रति सेकंड (FLOPS) में मापा जाता है। सुपर कंप्यूटर में हजारों प्रोसेसर होते हैं और यह प्रति सेकंड अरबों और खरबों गणना या संगणना कर सकते हैं।  

अंत में
 

इस लेख के माध्यम से आपको "Computer क्या है इसकी technology को समझे सरल भाषा में।" से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियां देने का प्रयास किया गया है, जिसमे computer का इतिहास उसके तकनीकी के साथ हुई बदलाव और उससे सम्बंधित पार्ट्स जो computer को चलाने के लिये आवश्यक है। हम आशा करते है की यह जानकारी "कंप्यूटर क्या है" आपके लिये उपयोगी सिद्ध होगी।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है

HindiWebBook

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post