स्टार्ट अप इंडिया युवाओं के लिए एक वरदान साबित हो रहा है।

स्टार्टअप इंडिया क्या है जिसे भारत सरकार प्रमोट कर रही है। आज भारत में ऐसे प्रतिभावान युवक और युवतियों की कोई कमी नहीं हैं। जो सवतंत्र रूप से अपना कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं। लेकिन प्रतिभा और संकल्प शक्ति होते हुऐ भी कई सारे सरकारी नियम व पूंजी का आभाव उनके रास्ते में सबसे बड़ी रूकावट बन जाता है। जिसके कारण वे हताश होकर फिर से नौकरी मांगने वालो की कतार में खड़े नजर आते हैं। स्टार्टअप इंडिया ऐसे ही प्रतिभावान और आगे बढ़ने वाले नोजवानो की इस समस्या को दूर करने के लिए, भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना इस दिशा में एक मील का पत्थर साबित हो रही है।

स्टार्ट अप इंडिया क्या है
स्टार्टअप इंडिया योजना से उन सभी लाखों लोगो को फायदा हो रहा है, जो अभी बेरोजगार है, और अपना वयवसाय शुरू करना चाहते है। इस योजना के तहत छोटे एवं बड़े उद्योगों को शुरू करने के लिए भारत सरकार की तरफ से हर तरह की सहायता प्रदान की जाती है। जैसे सस्ती दरों पर लोन की सुविधा, रोजगार सम्बन्धी जानकारी के लिये उचित मार्गदर्शन, Skill India Mission के तहत ट्रेनिंग देने की वयवस्था, नये उद्यमियों के लिये अनुकूल वातावरण बनाना। 

{tocify} $title={विषय सूची}

स्टार्टअप इंडिया योजना पर विचार तब शुरू हुआ जब सितंबर 2015 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अमेरिका के दौरे पर गये हुऐ थे। तब उन्होंने अमेरिका की सिलिकन वैली में ऐसी लाखों स्टार्टअप कंपनियाँ को कार्य करते हुए देखा जो रोजगार के अनगिनत अवसर पैदा कर रही थी। भारत वापस आने के बाद उन्होंने इस योजना पर गंभीरता से विचार कर काम करना आरम्भ कर दिया। जिसका परिणाम 16 जनवरी 2016 को “स्टार्ट अप इंडिया स्टैंड अप इंडिया ” के रूप में सामने आया। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी इस योजना के तहत भारत को एक मजबूत आर्थिक तंत्र के रूप में बदलना चाहते हैं। जिससे देश में लाखो लोगों को राजगार मिलेगा और उन्हें अपनी आर्थिक समस्याओं से भी छुटकारा मिलेगा। स्टार्टअप इंडिया योजना का संचालन  (Department of Industrial Policy and Promotion) के द्वारा किया जाता है। 

स्टार्ट अप इंडिया क्या है - What is Startup India in Hindi  

स्टार्टअप इंडिया योजना भारत सरकार की एक अति महत्वपूर्ण पहल है, जिसका मुख्य उद्देश्य देश में स्टार्टअप्स और नये विचारों को किर्यान्वित करने के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना है। जिससे देश के आर्थिक विकास की गति तेज़ हो तथा इसके माध्यम से बड़े पैमाने पर रोजगार के नये अवसर पैदा हों। स्टार्टअप इंडिया स्टैंडअप इंडिया, के विचार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस 2015 के भाषण में देश के सामने रखा था।

स्टार्टअप इंडिया योजना भारत सरकार द्वारा देश के युवाओं को नये अवसर प्रदान करने के उदेश्य से एक अति प्रभावी योजना बन गयी है। यह देश के प्रतिभावान युवाओं को उद्योगपति और उद्यमी बनने के अनेको अवसर प्रदान करती है, जिसके लिये सरकार द्वारा एक प्रभावी नेटवर्क को स्थापित किया गया है। यहाँ स्टार्ट-अप का अर्थ, देश के युवाओं को बैंको के माध्यम से सस्ती दरों पर वित्तीय साहयता प्रदान करना है, जिससे वे मजबूती के साथ अपनी शुरुवात कर सके और भारत में अधिक से अधिक रोजगार का सृजन हो सके।

स्टार्ट-अप इंडिया एक्शन प्लान का प्रारूप क्या है - What is the format of Start-up India Action Plan  

स्टार्ट-अप योजना के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिये भारत सरकार ने इसके एक्शन प्लान और कार्ययोजना को दर्शाया है, जिसमे स्टार्ट-अप योजना के सभी पहलुओं को एक साथ समाहित किया गया।

स्टार्ट अप इंडिया क्या है
Start-Up Action Plan को मुख्यतः तीन भागों में Divide किया गया है:-
  • सरलीकरण और प्रारंभिक सहायता
  • समर्थन और प्रोत्साहन अनुदान
  • उद्योग-शैक्षिकजगत(एकेडेमिया) भागीदारी और ऊष्मायन (Incubation)

स्टार्टअप इंडिया योजना का उद्देश्य - Objective of Startup India Scheme in hindi

स्टार्टअप इंडिया योजना का मुख्य उद्देश्य देश में युवाओ के अंदर उद्यशीलता को विकसित करना है, यानिकि Job Seekers को Job Creator में परिवर्तित करना है। जिससे देश में नये रोजगार और नौकरियों के अवसरों को बढ़ाया जा सके। Startup India का प्रमुख लक्ष्य नई रचनात्मक सोच को देश के युवाओं के साथ जोडऩा है, जिससे वे देश की आर्थिक समृद्धि में अपना योगदान दे सके। 

इस योजना के तहत Registration  करने से कई प्रकार के Benefits मिलने लगते हैं, जिससे नये उधमियों के लिये व्यापार करना काफी सरल हो जाता है। भारत सरकार स्टार्टअप इंउिया योजना को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना चाहती है, जिससे वह छोटे शहरों और गांवो के युवाओं को इस योजना से जोड सके।

स्टार्टअप इंडिया योजना के लाभ क्या है - Benefits of Startup India in hindi 

  • Start-Up India एक बड़ी आसान प्रक्रिया है, जिससे जुड़ने के लिए कोई भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकता है। इस ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को आप Mobile Apps या Websites के माध्यम से कर सकते हैं।
  • Start-up India Scheme के तहत सभी कारोबारियों को रोजगार संबंधी सारी जानकारी और मंजूरी (Information and Approvals) एक ही जगह से उपलब्ध कराये जायेगे। इसमें Single Window System का प्रयोग किया जायेगा।  
  • स्टार्ट-अप स्कीम के अंतर्गत 1 अप्रैल 2016 के बाद रजिस्टर्ड सभी कंपनियों को अगले 3 साल के लिए कर (TAX) में छूट दी जायेगी।
  • सरकार शुरुवाती तीन सालों तक स्टार्ट-अप योजना के द्वारा शुरू की गई कंपनियों का निरीक्षण नही करेगी, अर्थात उन्हें अपनी स्व-प्रमाणीकता की छुट दी जायेगी।
  • स्टार्ट-अप योजना के लिये सरकार ने 10,000 करोड़ रूपये का कॉर्पस फंड तैयार किया है।
  • पेटेंट पंजीकरण शुल्क (Patent Registration Fee) में 80% तक की कमी की गयी है ।
  • Start-Up योजना के अंतर्गत सरकार ने बैंकरप्सी कोड (Bankruptcy) के नियमों में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किये है, जिसमे कारोबारियों को अपने कारोबार से बहार निकलने या उसे बंद करने के लिए 90-दिन की विंडो को सुनिश्चित किया गया है।
  • भारत सरकार द्वारा पांच लाख स्कूलों में स्टार्ट-अप संबंधित कार्यक्रम चलायें गये है, जिससे ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को इस स्कीम के तहत जोड़ा जा सके।
  • स्टार्ट-अप योजना में नये इनोवेशन के लिये अटल इनोवेशन मिशन के तहत इनोवेशन हब बनाया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से 5 लाख स्कूलों को चिन्हित करके, इसमें 10 लाख बच्चों को शामिल करना है।
  • स्टार्ट-अप प्लान के द्वारा शुरू की गई कंपनियों को आईपीआर की सुरक्षा प्रदान करने के लिए कई योजनाएं बनाई गयी है।

स्टार्टअप इंडिया योजना में आवेदन के लिए योग्यता - Startup India Scheme Eligibility

  • START-UP INDIA SCHEME के अंतर्गत 5 वर्ष से अधिक समय से कारोबार कर रही कंपनीयो को इसमें जोड़ा जायेगा।
  • कोई भी प्राइवेट कंपनी या एलएलपी या साझेदारी फर्म इस योजना के अंतर्गत आ सकती है।
  • START-UP INDIA SCHEME में शामिल होने वाली कंपनी का वार्षिक टर्नओवर 25 करोड़ से अधिक नही होना चाहिए।
  • स्टार्ट-अप कंपनी का बिज़नस मोडल रोजगार को प्रेरित करने वाला होना चाहिए।
  • स्टार्ट-अप कंपनी में नवीनीकरण और तकनिकी (Renewal and Techniques) का अधिक इस्तेमाल किया जाना चाहिये।
  • इस योजना के तहत शुरू की गयी कंपनी को अपने उत्पाद और सेवा की नवीनीकरण के लिए DIPP द्वारा स्थापित Inter Ministerial Board से एक प्रमाण पत्र लेना होगा।

स्टार्टअप इंडिया योजना के लिए आवेदन करने का तरीका - How to apply for Startup India Scheme

स्टार्ट-अप योजना के लिए आवेदक ऑनलाइन प्लेटफार्म के जरिये किया जा सकता हैं। इस योजना से जुड़ने के लिए सभी आवेदको को इससे संबंधित सारी शर्तो को पूरा करना होता है। इसके लिये निम्नलिखित Online Apply की प्रक्रिया हैं :

  • इसके लिये सबसे पहले निचे दिए गये स्टार्ट-अप इंडिया स्कीम के Link के द्वारा Website पर जाएँ।| https://www.startupindia.gov.in/content/sih/en/login.html
  • उसके बाद यहाँ मांगी गयी सभी जरुरी जानकारीयो को भरना होगा। जैसे – 

            Entity Details; 

            Full Address (Office);

            Authorized Representative Details;

            Director(s) / Partner(s) Details; 

            Information required;

            Etc.... 

  • ये सारी जानकारी को देने के पश्चात आपको Required Documents को Uploaded करना होगा।
  • डॉक्यूमेंट को अपलोड करने के पश्चात इस योजना के सभी टर्म्स एंड कंडीशन को पढ़ लीजिये और Captcha को भरकर इसे सबमिट कर दीजिये।
  • इस प्रक्रिया को पूरी करने के बाद यदि आवेदक के आवेदन सम्बन्धी सभी Documents और मापदंडों सही पाये जायेगे तो इसे संबंधित डिपार्टमेंट द्वारा स्वीकार कर लिया जायगा।

अंत में निष्कर्ष 

आज की भारत सरकार यह चाहती है, कि देश के युवा नौकरी करने की जगह कुछ नया बिजनेस करने की सोचें जिससे उनके द्वारा ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार की सुविधा मिल सके, स्टार्टअप इंडिया योजना कुछ नई सोच वाले युवाओं के लिए एक वरदान की तरह है, जो प्रतिभावान युवा नयी सोच के साथ कुछ नया करने की सोच रहे हैं, तो ऐसे लोग इस स्कीम से लाभ लेकर अपना नया बिजनेस शुरू कर सकते है, जिससे दूसरे युवाओ के लिये भी रोजगार के अवसर उत्पन्न हो सके।

HindiWebBook

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post