e-RUPI Digital Payment in Hindi। ई-रूपी डिजिटल पेमेंट वाउचर कैसे जारी करें?

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट क्या है? चलिये इसे जानते है, आज भारत डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में एक और बड़ा कदम उठा चूका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ई-रूपी वाउचर पर आधारित डिजिटल पेमेंट सोलुशन यानिकि e-RUPI डिजिटल पेमेंट को लॉन्च कर दिया है। इसका सीधा लाभ उन सभी लाभार्थियों को मिलेगा जो ऑनलाइन ट्रांज़ैक्शन का प्रयोग करते है क्योकि इसमें अब कोई बीच में बिचौलिया नहीं होगा।

e-RUPI Digital Payment in Hindi

माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने समय-समय पर देश में डिजिटल पहल की शुरुआत की है। अगर हम देखे तो पिछले कुछ सालों में भारत में एक तरह की डिजिटल क्रांति शुरू हुई है। आज भारत के नागरिक भुगतान के डिजिटल तरीकों के बारे में अधिक जागरूक हो गए हैं जिससे जीवन स्तर में काफी सुधार हुआ है। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको e-RUPI डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म के बारे में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

{tocify} $title={विषय सूची}

डिजिटल प्लेटफार्म एक ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा यूजर आसानी से डिजिटल पेमेंट कर सकते हैं। हमे उम्मीद है इस लेख को पढ़ने के बाद आप जो जानकारी ई-रूपी वाउचर, e-RUPI, ई-रूपी वाउचर डाउनलोड, e-RUPI के फायदे आदि सभी बातों का पता चल जाएगा। इसलिए यदि आप e-RUPI डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस लेख को अंत तक बहुत ध्यान से पढ़ना होगा।

ई-रूपी वाउचर क्या है? What is e-RUPI Voucher in Hindi?

प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2 अगस्त 2021 को e-RUPI डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म को लॉन्च किया था। यह प्लेटफॉर्म एक कैसलेस और कॉन्टैक्टलेस इंस्ट्रूमेंट है, जिसका इस्तेमाल डिजिटल पेमेंट करने के लिए किया जाता है। यह एक QR Code या SMS स्ट्रिंग आधारित ई-वाउचर  है जो सीधे यूजर के मोबाइल पर पहुंचेगा। जहां यूजर इस वाउचर को बिना किसी डिजिटल पेमेंट एप, इंटरनेट बैंकिंग या कार्ड के रिडीम कर सकेंगे।

 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने अपने UPI प्लेटफॉर्म पर विकसित किया है। जिसमे इसके सहयोगी वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण हैं। 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट से सम्बंधित मुख्य बिंदु:

यह डिजिटल पेमेंट के लिए एक कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस तरीका है। यह एक तुरंत ऑटो जनरेटेड प्रतिक्रिया पर आधारित QR Code या SMS स्ट्रिंग ई-वाउचर है, जो सीधे उपयोगकर्ताओं के मोबाइल पर पहुंचाया जाता है।

उपयोगकर्ता इसे बिना किसी सर्विस प्रोवाइडर, कार्ड, डिजिटल पेमेंट ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस की आवश्यकता के बिना इस वाउचर को भुनाने में सक्षम होंगे।

यह स्पॉंसर सेवाओं को बिना किसी फिजिकल इंटरफेस के डिजिटल मोड में लाभार्थियों और सर्विस प्रोवाइडर के साथ जोड़ता है।

यह मेकेनिजिम यह भी सुनिश्चित करता है कि लेन-देन पूरा होने के बाद ही सर्विस प्रोवाइडर को भुगतान किया जाए।

यह सिस्टम प्री-पेड पर आधारित है और इसलिए, बिना किसी मध्यस्थ की भागीदारी के सर्विस प्रोवाइडर को समय पर भुगतान का आश्वासन प्रदान करता है।

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म के फ़ायदे क्या है?

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म की मदद से सर्विस प्रोवाइडर का पेमेंट ट्रांजैक्शन पूरा होने के बाद ही किया जाएगा। यह भुगतान प्लेटफॉर्म प्रीपेड प्रकृति का होगा जिसे सर्विस प्रोवाइडर को भुगतान करने के लिए किसी भी प्रकार के मध्यस्थ की आवश्यकता नहीं होगी। 

इसके अलावा, इस प्लेटफॉर्म का उपयोग उन योजनाओं के तहत सेवाएं को देने के लिए भी किया जा सकता है, जो आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, उर्वरक जैसी योजना के तहत मां और बाल कल्याण योजना, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम, सब्सिडी और पोषण संबंधी सहायता प्रदान करने के लिए हैं।

 

निजी क्षेत्र भी अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के लिए इन डिजिटल वाउचर का लाभ उठा सकते हैं। इस पहल के माध्यम से कल्याणकारी सेवाओं का बिना किसी देरी और सीधे तौर पर वितरण सुनिश्चित किया जाएगा।

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट वाउचर जारी करने की प्रक्रिया क्या है? 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट सिस्टम को भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payment Corporation of India) ने अपने यूपीआई प्लेटफॉर्म पर विकसित किया है। भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम उन बैंकों में शामिल हो गया है जो वाउचर जारी करने वाले ऑथोरिटी होंगे। 

इसके लिए कॉर्पोरेट या सरकारी एजेंसी को किसी विशिष्ट व्यक्ति को पेमेंट करने के लिए उस वयक्ति के विवरण के साथ साझेदार बैंक (निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के ऋणदाताओं) से संपर्क करना आवश्यक होगा, जिसके लिए भुगतान करना आवश्यक है।

लाभार्थियों की पहचान बैंक द्वारा आवंटित उनके मोबाइल नंबर वाउचर का उपयोग करके की जाएगी। यह मंच हमारी एक क्रांतिकारी डिजिटल पहल होगी जो जीवन स्तर में सुधार करेगी और भुगतान की प्रक्रिया को सरल बनाएगी।

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payment Corporation of India) क्या है?

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम एक ऐसा संगठन है जो भारत में रिटेल पेमेंट और उसके सेटलमेंट सिस्टम के संचालन के लिए जिम्मेदार है। यह संगठन भारतीय रिजर्व बैंक और भारतीय बैंकों के सहयोग के द्वारा शुरू किया गया है।

यह संगठन भारत में मजबूत पेमेंट और सेटेलमेंट बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए पेमेंट और सेटेलमेंट सिस्टम अधिनियम 2017 के प्रावधान के तहत काम करता है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया एक नॉन-प्रॉफिट ओर्गनइजेशन है जो भारतीय कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8 के तहत काम करता है।

 

एनपीसीआई टेक्नोलॉजी के उपयोग के माध्यम से फिजिकल और इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट और सेटेलमेंट सिस्टम के लिए भारत में बैंकिंग सिस्टम के लिए बुनियादी ढांचे को बनाए रखने के लिए भी जिम्मेदार है।

यह संगठन टेक्नोलॉजी की शुरुआत करके पेमेंट सिस्टम में नयापन लाने पर ध्यान केंद्रित करता है। एनपीसीआई के प्रमोटर बैंक भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, सिटी बैंक और एचएसबीसी हैं।

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म का शुभारंभ कब हुआ? 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म को 2 अगस्त 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी द्वारा लॉन्च किया गया था। इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ई-रूपी डिजिटल पेमेंट का शुभारंभ किया है। 

इस पेमेंट प्लेटफॉर्म को लॉन्च करने के मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रमोदी को इस प्लेटफॉर्म से सम्बंधित सभी जानकारियों को भी उपलब्ध कराया। इस प्लेटफॉर्म को लॉन्च करने के मौके पर पहली बार ई-रूपी डिजिटल पेमेंट का उपयोग मुंबई के एक निजी टीकाकरण केंद्र में दिखाया गया है।

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट का उद्देश्य क्या है? 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म का मुख्य उद्देश्य कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस पेमेंट सिस्टम प्रदान करना है ताकि नागरिक बिना किसी कठिनाई के डिजिटल पेमेंट कर सकें। इस पेमेंट प्लेटफॉर्म की मदद से यूजर्स सुरक्षित तरीके से पेमेंट कर सकते हैं। 

यह पेमेंट प्लेटफॉर्म एक क्यूआर कोड या एसएमएस स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर का उपयोग करता है जो लाभार्थी के मोबाइल पर वितरित किया जाएगा। ई-रूपी डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म किसी मध्यस्थ की भागीदारी के बिना सेवाओं का समय पर भुगतान सुनिश्चित करता है। 

उपयोगकर्ताओं को भुगतान करने के लिए किसी भी कार्ड या डिजिटल पेमेंट ऐप या इंटरनेट बैंकिंग एक्सेस की आवश्यकता नहीं है जो भुगतान प्रक्रिया को सरल और सुरक्षित बना देगा।

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट को जारी करने वाले बैंकों की सूची

बैंक का नाम जारीकर्ता प्राप्तकर्ता प्राप्तकर्ता ऍप 
यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया YesNoNA
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया YesYesYONO SBI मर्चेंट 
पंजाब नेशनल बैंक YesYesPNB मर्चेंट पे 
कोटक बैंक YesNoNA
इंडियन बैंक YesNoNA
इंडसइंड बैंक YesNoNA
ICICI बैंक YesYesभारत पे और पिंस लैब्स 
HDFC बैंक YesYesHDFC बिज़नेस ऍप 
कैनरा बैंक YesNoNA
बैंक ऑफ़ बड़ौदा YesYesBHIM बड़ौदा मर्चेंट पे 
एक्सिस बैंक YesYesभारत पे 

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट की विशेषताएं क्या है? 

  • भारत के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी 2 अगस्त 2021 को ई-रूपी डिजिटल पेमेंट नामक एक डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म को लॉन्च किया
  • यह प्लेटफॉर्म कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस है 
  • इस सिस्टम के माध्यम से उपयोगकर्ता क्यूआर कोड या एसएमएस स्ट्रिंग आधारित ई-वाउचर के माध्यम से डिजिटल भुगतान कर सकते हैं
  • यह वाउचर यूजर्स के मोबाइल पर सीधे डिलीवर होगा 
  • उपयोगकर्ता इस वाउचर को बिना किसी पेमेंट ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या कार्ड के रिडीम कर सकते हैं
  • इसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम ने अपने यूपीआई प्लेटफॉर्म पर ई रुपी डिजिटल भुगतान सेवा के रूप में विकसित किया है
  • इस पहल के माध्यम से सर्विस प्रोवाइडर को लाभार्थियों से जोड़ा जाएगा। यह कनेक्शन किसी भी प्रकार के फिजिकल इंटरफेस के बिना डिजिटल तरीके से आयोजित किया जाएगा
  • इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से सर्विस प्रोवाइडर को पेमेंट लेनदेन पूरा होने के बाद किया जाएगा
  • यह पेमेंट सिस्टम मूल रूप प्रीपेड है
  • e-RUPI को पेमेंट करने के लिए किसी भी प्रकार के सर्विस प्रोवाइडर की आवश्यकता नहीं है
इसका उपयोग उन योजनाओं के तहत सर्विसेज देने के लिए भी किया जा सकता है जो दवाएं और पोषण संबंधी सहायता प्रदान करती है 
HindiWebBook

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post