Performance Marketing क्या है और यह कैसे काम करता है?

आज इंटरनेट के युग में उत्पादों की जानकारी को प्राप्त करने और उन्हें खरीदने के तरीके में बहुत बड़ा बदलाव आया है। इसलिए अब यह कहने की जरूरत नहीं है, इसने कंपनियों के विज्ञापन और बिक्री करने के तरीके को भी पूरी तरह से प्रभावित किया है।

आप यह देखेंगे की आज, ,मार्केटिंग के तरीके इतने एडवांस है जहाँ 24/7 कैंपेन से एकत्र डेटा को उसके मूल से ही परिणामों को एनालिसिस करने की क्षमता हैं। जबकि कुछ दशक पहले इस तरह का एट्रिब्यूशन लगभग असंभव था।

मार्केटिंग कैंपेनस से प्राप्त डेटा की पारदर्शिता ने मार्केटिंग को अपने कैंपेन को अनुकूलित करने में काफी सक्षम बनाया है जिससे वे आज बेहतर प्रदर्शन कर रही है। और इसीलिए इसे "परफॉरमेंस मार्केटिंग" कहा जाता है। तो चलिए जानते है की Performance Marketing क्या है? 

परफॉरमेंस मार्केटिंग क्या है? What is Performance Marketing in Hindi?

Performance Marketing क्या है, (What is Performance Marketing in Hindi) यह ऑनलाइन मार्केटिंग कैंपेनस के लिए दिया जाने वाला एक शब्द है जहां पर कोई भी Advertiser मार्केटिंग कंपनियों या Ads Platform से प्राप्त परिणामों के लिए भुगतान करता हैं, जैसे कि क्लिक या कन्वर्जन।

परफॉरमेंस मार्केटिंग, डिजिटल मार्केटिंग की ही एक रणनीति है जो परिणामों के द्वारा संचालित होती है। यह उन सभी कंपनियों के लिए एक आदर्श तरीका है जो अपने दर्शकों तक बहुत बड़े पैमाने पर पहुंचना चाहते हैं, क्योंकि परफॉरमेंस मार्केटिंग में भुगतान इस बात पर आधारित होता है कि उपयोगकर्ता आपके कंटेंट के साथ किस प्रकार से इंटरैक्ट करता हैं।

Performance Marketing क्या है

Performance Marketing तब काम करता है जब कोई Advertiser अपनी कंपनी या प्रोडक्ट के विज्ञापन के लिए किन्ही एजेंसियों या प्रकाशकों के साथ जुड़ते हैं और Performance Marketing चैनलों - सोशल मीडिया, सर्च इंजन, वीडियो, एम्बेडेड वेब कंटेंट, पर विज्ञापन देते है। 

यहाँ पारंपरिक तरीके के विपरीत किसी विज्ञापन के लिए भुगतान करने के बजाय, Advertiser इस आधार पर भुगतान करता हैं कि उसका विज्ञापन कितना अच्छा प्रदर्शन कर रहा है, जिसका आधार क्लिक्स, इम्प्रेशंस, शेयर या नंबर ऑफ़ कन्वर्जन को माना जाता है। परफॉरमेंस मार्केटिंग क्या है, यही इसका आधार है। 

परफॉरमेंस मार्केटिंग कैसे काम करता है? How Performance Marketing Works?

Performance Marketing क्या है और परफॉरमेंस मार्केटिंग कैसे काम करता है, इसे इस तरह से समझते है जब कोई Advertiser अपने विज्ञापन को किसी चैनल पर डालता हैं, और फिर उस विज्ञापन के प्रदर्शन के आधार पर भुगतान करता है। और जब हम वहाँ परफॉरमेंस मार्केटिंग की बात करते है तो वहाँ पर भुगतान करने के कुछ अलग तरीके हैं:

1.) Cost Per Click (CPC)

यहाँ Advertiser अपने विज्ञापन पर क्लिक किए जाने की संख्या के आधार पर भुगतान करते हैं। यह आपकी साइट पर ट्रैफ़िक लाने का एक अच्छा तरीका भी है।

2.) Cost Per Impression (CPM)

इंप्रेशन अनिवार्य रूप से आपके विज्ञापन के व्यू होते हैं। CPM के आधार पर, आप प्रत्येक हज़ार व्यू के लिए भुगतान करते हैं (उदाहरण के लिए, यदि 25,000 लोग आपका विज्ञापन देखते हैं, तो आप अपनी आधार दर का 25 गुना भुगतान करेंगे)।

3.) Cost Per Sales (CPS)

CPS के साथ, आप केवल तभी भुगतान करते हैं जब आप किसी विज्ञापन के द्वारा कोई बिक्री होती हैं। इस प्रणाली का उपयोग आमतौर पर Affiliate Marketing में भी किया जाता है।

4.) Cost Per Leads (CPL)

CPL के साथ आप भुगतान तब करते हैं जब कोई ईमेल न्यूज़लेटर या वेबिनार जैसी किसी चीज़ के लिए साइन अप किया जाता है। यहाँ CPL लीड को उत्पन्न करता है, जिससे आप ग्राहकों के साथ कम्यूनिकेट कर सकते हैं और अपनी बिक्री को बढ़ा सकते हैं।

5.) Cost Per Acquisition (CPA)

CPA मूलरूप से CPL और CPS के ही समान है लेकिन अधिक सामान्य है, इसकी संरचना। CPA के साथ, Advertiser तब भुगतान करता हैं जब कोई उपभोक्ता एक विशिष्ट कार्य को पूरा करता हैं, जैसे:- प्रोडक्ट खरीदना, अपनी संपर्क जानकारी को साझा करना, आपके ब्लॉग पर जाना आदि।

यही कुछ 5 तरीके है जिनके आधार पर परफॉरमेंस मार्केटिंग कैसे काम करता है यह हम जान सकते है। 

परफॉरमेंस मार्केटिंग के प्रमुख चैनल कौन से है? Performance Marketing Channels in Hindi. 

जब परफॉरमेंस मार्केटिंग चैनल की बात आती है तो यह विचार करना जरुरी हो जाता है की परफॉरमेंस मार्केटिंग के प्रमुख चैनल कौन से है जो सबसे अच्छा काम करते हैं? परफॉरमेंस मार्केटिंग के पाँच प्रकार हैं जिनका उपयोग एजेंसियां ​​और Advertiser ट्रैफ़िक बढ़ाने के लिए करते हैं।

1.) Banner (Display) Ads

यदि आप ऑनलाइन हैं, तो संभवतः आपने हाल ही में बहुत सारे डिस्प्ले ऐड देखे होंगे। ये विज्ञापन आपके फ़ेसबुक न्यूज़फ़ीड के किनारे पर, या उस न्यूज़ वेब पेज के ऊपर या नीचे दिखाई देते हैं। हालांकि अब Ad Blockers की बढ़ती लोकप्रियता और Banner Blindness के कारण डिस्प्ले ऐड धीरे-धीरे अपनी अपील खो रहे हैं, फिर भी कई कंपनियां इंटरैक्टिव कंटेंट, वीडियो और आकर्षक ग्राफिक डिज़ाइन का उपयोग करके सफलता पा रही हैं।

Performance Marketing क्या है

2.) Native Advertising 

स्पोंसर्ड कंटेंट को बढ़ावा देने के लिए नेटिव ऐड, वेब पेज या साइट की नेचुरल ऍपेरेंस का लाभ उठाता है। उदाहरण के लिए, स्पोंसर्ड वीडियो YouTube पेज के "वॉच नेक्स्ट" अनुभाग में दिखाई दे सकते हैं। नेटिव ऐड ईकॉमर्स साइटों पर भी लोकप्रिय हैं - उदाहरण के लिए, आपने उन्हें फेसबुक मार्केटप्लेस पर देख सकते है।

3.) Content Marketing

कंटेंट मार्केटिंग आपके दर्शकों को शिक्षित करने के बारे में है। OmniVirt के अनुसार, यह आउटबाउंड मार्केटिंग की तुलना में 62 प्रतिशत कम खर्च करता है, और तीन गुना अधिक लीड उत्पन्न करता है। कंटेंट मार्केटिंग के साथ, उपयोगकर्ताओं को उपयोगी जानकारी प्रदान करने और अपने ब्रांड को संदर्भ में रखने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। कंटेंट मार्केटिंग एक ऐसा चैनल है जिसमें ब्लॉग पोस्ट, केस स्टडी, ई-बुक्स और बहुत कुछ शामिल हो सकता है।

4.) सोशल मीडिया

परफॉरमेंस मार्केटिंग के लिए, सोशल मीडिया एक स्वर्ग है। यह न केवल उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने और उन्हें आपकी साइट पर ले जाने का अवसर प्रदान करता है - बल्कि उपयोगकर्ता अपने स्पोंसर्ड कंटेंट को व्यवस्थित रूप से साझा भी कर सकते हैं। फेसबुक के पास परफॉरमेंस मार्केटिंग के लिए सेवाओं की सबसे व्यापक सूची है, लेकिन लिंक्डइन, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे अन्य प्लेटफॉर्म भी नए ग्राहकों तक पहुंचने के कई अवसर प्रदान करते हैं।

5.) सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)

अधिकांश ऑनलाइन रिसर्च सर्च इंजन के माध्यम से किए जाते हैं, और इसके आवश्यक है कि वह साइट सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ हो। परफॉरमेंस मार्केटिंग के संदर्भ में, मुख्य रूप से Cost-Per-Click (CPC) पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, विशेष रूप से भुगतान किए गए विज्ञापन के लिए। ऑर्गेनिक SEM के लिए, कई परफॉरमेंस मार्केटर, कंटेंट मार्केटिंग और SEO - ऑप्टिमाइज़ लैंडिंग पेजों पर भरोसा करते हैं।

परफॉरमेंस मार्केटिंग के उदाहरण क्या है? Examples of Performance Marketing in Hindi.   

Performance Marketing Examples in hindi, परफॉरमेंस मार्केटिंग के बारे में जानने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक यह है कि कुछ उदाहरण देखें कि कंपनियां इसका उपयोग कैसे करती हैं। यहाँ कुछ परफॉरमेंस मार्केटिंग के उदाहरण है:-

उदाहरण 1: SAAS ब्रांड - एफिलिएट मार्केटिंग 

SAAS ब्रांड ने कई अपने एफिलिएट पार्टनरो के साथ भागीदारी की, जो सॉफ़्टवेयर प्रोडक्ट्स के डेवलपमेंट के विशेषज्ञ थे। उन्होंने प्रोडक्ट के बारे में ब्लॉग पोस्ट और वीडियो बनाए और ब्रांड की वेबसाइट में लिंक प्रदान किए जहां लोग इन सॉफ्टवेयर को खरीद सकते थे।

Performance Marketing क्या है

ये सभी लिंक एफिलिएट लिंक थे, इसलिए यदि कोई उन पर क्लिक करता है और फिर खरीदारी करता है, तो एफिलिएट को कमीशन मिलेगा।यह ब्रांड और उनके सहयोगी दोनों के लिए एक जीत की स्थिति है।

उदाहरण 2: ऑनलाइन रिटेलर - सोशल मीडिया विज्ञापन

ऑनलाइन रिटेलर ने अपने प्रोडक्ट्स की नई लाइन को बढ़ावा देने के लिए फेसबुक और ट्विटर पर एक अभियान चलाया। उनके विज्ञापन उन लोगों को टारगेट करते थे जो उन प्रोडक्ट्स में रुचि रखते थे। कंपनी का लक्ष्य लैंडिंग पेज पर अधिक क्लिक प्राप्त करना था।

इसे प्राप्त करने के लिए, इसमें क्रिएटिव और टारगेट विजिटर पर बहुत ही बारीकी से ध्यान केंद्रित किया ताकि यह उन विजिटर को वास्तव में प्रासंगिक लगे जो विज्ञापन को देखेंगे। परिणामस्वरूप, इसे हाई क्लिकथ्रू रेट प्राप्त हुआ और लैंडिंग पेज पर अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त हुआ।

उदाहरण 3: ऑनलाइन B2B रिटेलर - ईमेल मार्केटिंग

ऑनलाइन B2B रिटेलर ने लीड उत्पन्न करने के लिए एक अभियान चलाया। इसने एक नए लैपटॉप के लिए बाजार में लोगों को टारगेट किया और ब्रांड की वेबसाइट पर लीड कैप्चर फॉर्म भरने पर उन्हें एक मुफ्त लैपटॉप और कई फ्री गिफ्ट्स जीतने का मौका दिया।

अभियान ने सफलतापूर्वक लीड उत्पन्न की, और फ़ॉर्म भरने वाले कई लोगों ने ब्रांड से एक लैपटॉप खरीदा।

उदाहरण 4:  VAVAVOOM - YouTube वीडियो कैंपेन 

TrueView for Action नाम से एक वीडियो कैंपेन चलाया जो Google Ads पर भी उपलब्ध है, जिसका उद्देश्य एक्शन-ड्राइविंग सुविधाओं के माध्यम से कन्वर्जन और लीड को Generate करना था। ग्लोबल फैशन रिटेलर VAVAVOOM को TrueView for Action का उपयोग करके YouTube वीडियो कैंपेन से कुछ बहुत ही प्रभावशाली परिणाम मिले हैं।

 

कंपनी ने इस लक्ष्य तक पहुंचने की कोशिश करने के लिए कस्टम इंटेंट ऑडियंस और इन-मार्केट टार्गेटिंग के साथ TrueView कैंपेन को मिलाकर 10:1 का ROS निर्धारित किया है। और वास्तव में, उन्होंने 11-सप्ताह के अभियान के दौरान 304,517 इंटरैक्शन और 1409% का ROS प्राप्त करते हुए इसे बड़े पैमाने पर पार किया।

परफॉरमेंस मार्केटिंग के फायदे क्या है? Benefits of Performance Marketing in Hindi.

डिजिटल मार्केटिंग का भविष्य हर साल अधिक आशाजनक दिखने के साथ - साथ, परफॉरमेंस मार्केटिंग चैनलों का उपयोग करने से आपको अपनी कंपनी की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने विज्ञापन प्रयासों को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

परफॉरमेंस मार्केटिंग एक रचनात्मक और प्रभावी तरीका है जिससे आप अपने दर्शकों में विविधता ला सकते हैं और मूल्यवान डेटा कैप्चर करते हुए अपनी पहुंच का विस्तार कर सकते हैं। 

यहां 3 ऐसे फायदे बताए जा रहे जो यह दिखाते हैं कि परफॉरमेंस मार्केटिंग एक नई मार्केटिंग क्यों है:-

1.) ईजी-टू-ट्रैक-परफॉरमेंस

परफॉरमेंस मार्केटिंग कैंपेन, ट्रैकिंग और एनालिसिस के स्पष्ट उद्देश्य के साथ स्थापित किए जाते हैं। विशेष रूप से परफॉरमेंस मार्केटिंग के लिए डिज़ाइन किए गए विभिन्न डेटा एनालिटिक्स टूल जिनकी मदद से, परफॉरमेंस कैंपेनस की नब्ज पर उंगली रखना और बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए उन्हें समायोजित करना आसान हो जाता है।

2.) लौ रिस्क 

मार्केटिंग वास्तव में उनके लिए है जो यह जानते हैं कि प्रत्येक स्टेप में उनके परफॉरमेंस कैंपेनस के साथ क्या हो रहा है, और जो आवश्यक जोखिम को अनुकूलित करके उसे बेहतर स्थिति में रखते है। जहाँ कम जोखिम के साथ, तेज लॉन्च संभव है वो भी बिना किसी मंजूरी के।

3.) आरओआई-केंद्रित

परफॉरमेंस मार्केटिंग आरओआई द्वारा निर्देशित होता है, इसलिए ध्यान हमेशा परफॉरमेंस में सुधार पर केंद्रित होता है। जो यह सुनिश्चित करता है कि परफॉरमेंस कैंपेन लगातार बेहतर परिणामों की ओर बढ़ रहे हैं, जो सभी मेट्रिक्स में ब्रांड को ऊपर उठाने और लीड और बिक्री को बढ़ावा देने में मदद करता है।

अंत में  

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको "Performance Marketing क्या है और यह कैसे काम करता है?" के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

सम्बंधित जानकारियाँ 

HindiWebBook

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post