वेब स्टोरीज के लिए गूगल की गाइडलाइन्स क्या है? Google Web Stories Guidelines in Hindi.

Google ने अपने Search Development क्षेत्र में, Web Stories को लेकर अपनी Google Web Stories Guidelines को प्रकाशित किया हैं। ये सभी गाइडलाइन्स Google Discover में वेब स्टोरीज़ के लॉन्च के साथ लॉन्च किये गये थे, और ये Google Web Stories के सभी उपयोगों पर अधिक व्यापक रूप से लागू होते हैं।

गूगल वेब स्टोरीज क्या हैं? What is Google Web Stories in Hindi? 

Google Web Stories मूल रूप से सोशल मीडिया स्टोरीज का एक सर्च इंजन संस्करण हैं। यह बढ़ते मोबाइल उपकरणों के उपयोग नई तकनीकों, आयामों और वीडियो और विज़िबल कंटेंट पर जोर देने के साथ, Web Stories के रूप में सर्च अनुभव को बेहतर बनाने का एक तरीका हैं।

वेब स्टोरीज कंटेंट 30 पृष्ठों तक का प्रारूप ले लेती हैं, जिसे आप सोशल मीडिया स्टोरी की तरह क्लिक कर सकते हैं, और वे Google के सर्च रिजल्ट और डिस्कवर पेज में दिखाई देती हैं।

यह AMP (Accelerated Mobile Pages) का एक रूप हैं, और Google के अनुसार, व्यस्त लोगों द्वारा तुरंत और इस्तेमाल करने के आसान तरीको में से एक हैं।

Google Web Stories Guidelines in Hindi


एएमपी क्या है? What is AMP in Hindi?

Accelerated Mobile Pages या AMP इंटरनेट को और अधिक मोबाइल अनुकूल बनाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए यह Google की एक पहल है। इसमें एक Open Source HTML स्ट्रक्चर शामिल है जो डेवलपर्स को तेजी से लोडिंग समय के साथ लाइट पेज बनाने की अनुमति देता है। 

तकनीकी रूप से, एएमपी मानदंड एक एसईओ रैंकिंग का कारक नहीं हैं, लेकिन तेजी से लोडिंग गति को Search Results में उच्च स्तर पर प्रदर्शित करने के कारण इसे पुरस्कृत किया जाता है।

एएमपी वेब स्टोरीज़ इसी का एक विकास क्रम है, क्योंकि यह पढ़ने में आसान सामग्री को प्रदान करती हैं जो आकर्षक, आनंददायक और Visually Attractive है।  

गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स क्या है? What is Google Web Stories Guidelines in Hindi? 

गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स कहती हैं कि "आपकी वेब स्टोरीज Google Discover और सर्च पेज पर एकल परिणामों के रूप में दिखाई दें, इसके लिए उन्हें Google Discover नीतियों और Google के वेबमास्टर दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए।   

वेब स्टोरीज को संपूर्ण Google पर बेहतर अनुभवों के आधार पर प्रदर्शित करने के लिए वेब स्टोरीज को निम्नलिखित रूप से इन अतिरिक्त कंटेंट गाइडलाइन्स का पालन करना चाहिए। वेब स्टोरीज के द्वारा कंटेंट गाइडलाइन्स के गंभीर उल्लंघन के मामलों में, एक साइट को स्थायी रूप से संपूर्ण Google पर दिखाई देना बंद किया जा सकता है। 

गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स के लिए सूची यहां दी गई है (Google Web Stories Guidelines Lists in Hindi)

गूगल वेब स्टोरीज को Google Discover और सर्च पेज पर बेहतर परिणामों के रूप में दिखाई देने के लिए उन्हें Google Web Stories Guidelines का पालन करना होगा। जिससे वेब स्टोरीज़ संपूर्ण Google पर बेहतर अनुभव देने के लिए सर्च पर ग्रिड व्यू, Google इमेज और Google डिस्कवर में एक ही तरह से दिखाई दें।

  • कॉपीराइट कंटेंट

गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स के अनुसार ऐसी वेब स्टोरीज की अनुमति नहीं हैं जो किसी के कॉपीराइट का उल्लंघन करती हैं। इसलिए गूगल इन वेब स्टोरीज को अनुमति नहीं देता हैं जिनमें किसी अन्य व्यक्ति का कॉपीराइट कार्य शामिल होता है, या जब तक कि आपको उनसे अनुमति प्राप्त न हो।

Google आपकी वेब स्टोरीज को संपूर्ण Google पर प्रदर्शित करने के संबंध में कोई दायित्व या उत्तरदायित्व नहीं लेता है। यदि आपकी वेब स्टोरी किसी और के कॉपीराइट का उल्लंघन करती है, तो गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स के अनुसार गूगल उसे प्रदर्शित करने से रोक सकता हैं। अधिक जानकारी के लिए, आप गूगल कॉपीराइट प्रक्रियाओं की समीक्षा करें।

  • टेक्स्ट-हैवी वेब स्टोरीज़

हम ऐसी वेब स्टोरीज़ को अनुमति नहीं देते हैं जो टेक्स्ट हैवी होती हैं। यदि अधिकांश पेजों में 180 शब्दों से अधिक का टेक्स्ट है, उन वेब स्टोरीज़ को योग्य नहीं माना जाता हैं। जहां तह संभव हो छोटे आकार के वीडियो (प्रति पृष्ठ 60 सेकंड से कम) के उपयोग को ही प्रोत्साहित किया जाता है।

Google Web Stories Guidelines in Hindi


  • लो वैल्यू कंटेंट 

Low Value Content को गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स में स्थान नहीं दिया गया है, गूगल ऐसी वेब स्टोरीज़ को प्रदर्शन की अनुमति नहीं देता हैं, जिनमें ऐसे चित्र और वीडियो एसेट होते हैं, जो इस हद तक खिंचे हुए या पिक्सेलेटेड होते हैं कि दर्शकों के अनुभव पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

  • Lack of Story  

गूगल ऐसी वेब स्टोरीज को अनुमति नहीं देता हैं जिनमें एक पेज का दूसरे पेज से कोई सम्बन्ध ना हो यानिकि एक पेज का कंटेंट दूसरे पेज  कंटेंट से मेल ना खाता हो या जबरदस्ती का कंटेंट डाला गया हो।

  • अधूरी स्टोरीज

गूगल उन वेब स्टोरीज को अनुमति नहीं देता जो अधूरी हैं या जिनके लिए उपयोगकर्ताओं को आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए अन्य वेबसाइटों या एप्लिकेशन के लिंक पर क्लिक करने की आवश्यकता होती है।

  • अत्यधिक व्यावसायिक

गूगल ऐसी वेब स्टोरीज को अनुमति नहीं देता हैं जिनका एकमात्र लक्ष्य किसी सेवा या उत्पाद का विज्ञापन करना है, और विशेष रूप से यदि आप अपनी वेब स्टोरी का उपभोग करने वाले उपयोगकर्ताओं से सीधे लाभ उठा सकते हैं। यह गूगल वेब स्टोरीज गाइडलाइन्स के अनुसार गूगल की नीतियों का उलघंन है। 

एफिलिएट मार्केटिंग लिंक की अनुमति तब तक है जब तक वे वेब स्टोरी के एक छोटे से हिस्से तक सीमित हैं। प्रदर्शन विज्ञापन को स्टोरी विज्ञापन दिशानिर्देशों का पालन करते हुए रखे जा सकते हैं। एफिलिएट कार्यक्रम Google के वेबमास्टर दिशानिर्देशों के आधार पर समर्थित होने चाहिए।

Google Web Stories Guidelines के आधार पर Google ने वेब स्टोरीज के लिए कुछ सर्वोत्तम तथ्यों को भी पोस्ट किया है और बेहतर सर्च के लिए वेब स्टोरीज के उदाहरण जोड़े हैं।

यहां कुछ सर्वोत्तम तथ्य दिए गये हैं:

1.) वीडियो टेक्स्ट, इमेजेज की तुलना में अधिक आकर्षक होते है। जितना हो सके वीडियो का उपयोग करें, और इमेजेज और टेक्स्ट के साथ सम्बद्ध करें।

2.) टेक्स्ट को कई पृष्ठों के रूप में शामिल करने से बचें। प्रत्येक पेज पर लगभग 200 वर्ड्स तक टेक्स्ट को रखने या कम करने पर विचार करें।

3.) यह सुनिश्चित करें कि टेक्स्ट पेज पर अन्य सामग्री द्वारा ब्लॉक्ड नहीं हो। बर्न इन टेक्स्ट का उपयोग न करे, आप टेक्स्ट को विभिन्न डिवाइस आकारों में फिट करने के लिए आकार बदलने के कारण उसे ब्लॉक्ड होने से रोके।

Google Web Stories Guidelines in Hindi

4.) एनिमेशन के साथ अपनी कहानियों को जीवंत करें। ध्यान भटकाने वाले या दोहराए जाने वाले एनिमेशन से बचें जो थकान का कारण बन सकते हैं।

5.) किसी भी वेब पेज की तरह, उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री को प्रदान करे जो आपके पाठकों के लिए उपयोगी और दिलचस्प हो। यही Google Web Stories Guidelines की सबसे पहली शर्त है, सबसे महत्वपूर्ण चीज जो आप कर सकते हैं, एक संपूर्ण कथा को शामिल करें और अपने पाठकों को जोड़े रखने के लिए कहानी कहने की सर्वोत्तम प्रथाओं का पालन करें।

6.) शीर्षकों को 90 वर्ड्स से छोटा रखें। गूगल एक वर्णनात्मक शीर्षक का उपयोग करने की सलाह देता हैं जो 70 वर्ड्स से छोटा हो।

7.) अपनी कहानी में noindex एट्रिब्यूट को शामिल न करें, यह एट्रिब्यूट Google को पृष्ठ को इंडेक्स करने से रोकता है जिससे यह Google पर प्रदर्शित नहीं होती है। इसके अतिरिक्त, अपनी वेब स्टोरीज़ को अपने साइटमैप में जोड़ें। आप यह देखने के लिए जांच कर सकते हैं कि Google आपकी वेब स्टोरीज को सर्च कंसोल में इंडेक्सिंग कवरेज रिपोर्ट और साइटमैप रिपोर्ट में दिखा रहा है या नहीं।

8.) यह सुनिश्चित करें कि HTML टैग में कम से कम URL के Same Domain में हो। क्योकि लिंक rel="amphtml" Pairing वेब स्टोरीज के लिए उपलब्ध नहीं है। 

9.) आपकी वेब स्टोरीज एएमपी स्टोरी मेटाडेटा दिशानिर्देशों का पालन करती होनी चाहिए। मार्कअप को शामिल करें जिसे आप सामान्य रूप से वेब पेज पर शामिल करेंगे।

10.) वेब स्टोरीज एएमपी पेज के लिए वैलिड होनी चाहिए, इनवैलिड AMP समस्याओं से बचने के लिए, AMP Validator Tool का उपयोग करके अपनी कहानी का परीक्षण करें और किसी भी पाई गई त्रुटियों को ठीक करें।

11.) उन इमेजेज का उपयोग करने से बचें जिनमें टेक्स्ट में बर्न हुआ है, क्योंकि यह आपकी कहानी के शीर्षक को बाधित कर सकता है जब उपयोगकर्ता आपकी कहानी का पूर्वावलोकन Sear . में करते हैं।

अंत में 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको "वेब स्टोरीज के लिए गूगल की गाइडलाइन्स क्या है? Google Web Stories Guidelines in Hindi." के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

जरूर पढ़े 

HindiWebBook

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post